खुद में खुद को खोज ले तू

तोड़ दे हद सारी उड़ चल

आसमा सुना पड़ा हें |

हर रात के आगे सूरज

सुबह लिए खड़ा हें |

खुद में खुद को खोज ले तू ||

जंजीरे तेरी क्यों खामोश हो ,

होश में नही सब मदहोश हो | खुद को खुद की राह दिखा जा ,

जमाना साथ नहीं अकेले आजा |

खुद में खुद को खोज ले तू ||

चल पद सुनसान गली चोबारे सब हरे भरे हो जायेंगे|

जेसे जेसे तू बढेगा संग तेरे

सब बड़े हो जायेंगे |

खुद में खुद को खोज ले तू ||

अपनी जिद को तू बेक़रार करले

खुद से प्यार तू बेसुमार करले |

सारा जमाना तेरे दाहिने में हो

तू ही तू हर आईने में हो |

खुद में खुद को खोज ले तू || i  mage source -www.telegraph.co.uk

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s